ब्राह्मणों का महाकुम्भ 10 दिसम्बर को बिलासपुर में….पूरे छत्तीसगढ़ के विप्रजन महासम्मेलन में होंगे शामिल

0
100

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ी ब्राह्मण विकास परिषद की एक बड़ी बैठक में सैकड़ो सदस्य ने उपस्थित होकर सर्वसम्मत निर्णय लिया है कि बिलासपुर में 10 दिसम्बर को छत्तीसगढ़ के ब्राह्मणों को जोड़कर समाज का विस्तार करते हुए सामाजिक सद्भाव का संदेश दिया जाएगा।

छत्तीसगढ़ के विप्रजनों के महाकुम्भ में नामधन्य प्रमुख प्रतिनिधि जन भी शामिल होंगे, कार्यक्रम की तैयारी हेतु शीघ्र ही अलग अलग दायित्व दिया जाएगा, सम्मेलन के स्वरूप पर चर्चा करते हुए उसे अलग अलग सत्र में विभाजित किया गया है, जिसमे आगन्तुक विप्रजनों का पंजीयन, टीकाकरण, भगवान परशुराम की भव्य पूजा, अर्चना, आरती के बाद शास्त्रीय संगीत वादन व गायन, सामाजिक प्रतिष्ठित व विद्वान विप्रजनों द्वारा छत्तीसगढ़ के विकास में ब्राह्मणों का योगदान, धर्म व आचरण, युवाओं की दशा व दिशा, महिला शक्ति, युवाओं के लिए रोजगार, साहित्य व पुरातात्विक धरोहर, बेहतर स्वास्थ्य, रोजगारमूलक शिक्षा, सुसंगत न्याय, प्रगतिशीलता, सकारात्मकता आदि विषय पर व्याख्यान, परिचर्चा व संगोष्ठीआयोजित किया जाएगा।

नए सत्र में सभी ब्राह्मण विप्र कुल परिवार का सामूहिक सम्मान व वर्तमान में विभिन जिला, तहसील, ब्लॉक, गांव में सेवारत सभी ब्राह्मण संगठन का सामूहिक सम्मान ब्राह्मण महासम्मेलन में किया जाएगा। आगामी सत्र में बौद्धिक ज्ञान प्रदर्शन में संस्कृत में पांडित्य वाचन, स्व लेख, कवि सम्मेलन होगा।

स्थानीय विप्रजनों को एकजुट व विस्तृत किये जाने का निर्णय लेते हुए संभाग, जिला, तहसील व ग्राम स्तर पर विप्र संगठन को आवश्यक बताया गया, साथ ही संरक्षक, संरक्षक सदस्य, आजीवन सदस्य, त्रिवार्षिक, वार्षिक सदस्य बनाये जाने का निर्णय लिया गया, पूर्व में परिषद सभा द्वारा लिए गए निर्णय अनुसार परिषद के कार्य विस्तार व सुचारू संचालन हेतु कार्यकारिणी के विस्तार का निर्णय भी लिया गया। विप्रजनों को संगठित रहने व सहयोग की भावना से काम करने की चर्चा की गई। छत्तीसगढ़ी ब्राह्मण विकास परिषद के विस्तार हेतु सभी ने जिला, तहसील व ग्राम के साथ बिलासपुर में वार्डवार परिषद संगठन गठन में सहयोग देने का निर्णय लिया।

बैठक में बताया गया कि परिषद संस्कार आधारित वैवाहिक वर – वधु की जानकारी भी समाज को उपलब्ध कराएगा, इसके लिए निःशुल्क तौर पर वर – वधु की जानकारी विप्रजन महासम्मेलन में निर्धारित प्रारूप में जमा करेंगे, जिसे संकलित कर ब्राह्मण समाज को दिया जाएगा।

छत्तीसगढ़ी ब्राह्मण विकास परिषद बिलासपुर द्वारा सशुल्क व्रतबन्ध (उपनयन) संस्कार 10 फरवरी को कराया जाएगा, जिसका पंजीयन परिषद के पदाधिकारियों के पास प्रारम्भ कराया गया है।

परिषद की बैठक में अध्यक्ष डॉ प्रदीप शुक्ला ने समाज के सभी लोगो को सुझाव देने व अपने परिवार, रिश्तेदार के साथ उपस्थिति देने कहा। छत्तीसगढ़ी ब्राह्मण विकास परिषद बिलासपुर के महासम्मेलन के आयोजन के स्वरूप व व्यवस्था पर महासचिव संजय गौरहा (शर्मा) ने विस्तृत प्रस्ताव रखा, परिषद के कोषाध्यक्ष अनिल तिवारी ने विभिन्न स्तर के सदस्यता अभियान की चर्चा करते हुए आय – व्यय का विवरण प्रस्तुत किया, परिषद के संरक्षक सदस्य संजय बसंत शर्मा ने आयोजन स्थल, भोजन व्यवस्था की जानकारी दी, परिषद के सचिव नागेंद्र धर शर्मा ने उपस्थित विप्रजनों को धन्यवाद ज्ञापित किया, बैठक का संचालन महासचिव संजय गौरहा (शर्मा) ने किया।

छत्तीसगढ़ी ब्राह्मण विकास परिषद की बैठक में भाठापारा विप्र संघ से गौरीशंकर उपाध्याय, सकरी विप्र संघ से राजेश तिवारी, डॉ प्रदीप शुक्ला, संजय बसंत शर्मा, अनिल तिवारी, संजय गौरहा (शर्मा) नागेंद्र धर शर्मा, श्रीमती जयश्री शुक्ला, श्रीमती संगीता शुक्ला, अजय शर्मा, तरु तिवारी, सौरभ दुबे, प्रेमचंद शुक्ला, राजेश शुक्ला, हरबंश शुक्ला, नवरत्न शुक्ला, सस्मिता शर्मा, रश्मि द्विवेदी, प्रदीप शर्मा, अपूर्व तिवारी, आदित्य शुक्ला, प्रदीप पांडेय, ज्योतिंद्र उपाध्याय ने विचार रखा, बैठक में आरती दुबे, सुशील धर दीवान, चंद्रशेखर पांडेय, रविन्द्रधर दीवान, जलेश्वर शर्मा, राजेश पांडेय, चंद्रकांत पांडेय, ईश्वर लाल तिवारी, धर्मेंद्र गौरहा, रोशन शर्मा, प्रमोद शर्मा, रमाकांत शर्मा, देवव्रत मिश्रा, कौस्तुभ पांडेय, कौशल तिवारी, कामता शुक्ला, हेमंत शर्मा, शैलेश चौबे, हेमंत गौरहा, रविन्द्र उपाध्याय आदि विप्रजन उपस्थित थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.