18 जुलाई को प्रदेश के सभी शाला के शिक्षक रहेंगे हड़ताल में….रायपुर में एल बी संवर्ग के शिक्षकों का जंगी प्रदर्शन….सभी जिला व ब्लॉक में हड़ताल की दी गई सूचना

0
123

रायपुर। एक सूत्रीय मांग पूर्व सेवा की गणना कर सही वेतन निर्धारण करते हुए सहायक शिक्षकों की वेतन विसंगति दूर कर / क्रमोन्नत वेतनमान प्रदान कर, पुरानी पेंशन प्रदान करे एवं कुल 20 वर्ष की सेवा पर पूर्ण पुरानी पेंशन दिया जावे, इसी मांग को लेकर शिक्षक संघर्ष मोर्चा के बैनर तले 18 जुलाई को रायपुर में एल बी संवर्ग के शिक्षक जंगी प्रदर्शन की तैयारी कर रहे है। इसके लिए सभी जिला में शिक्षक मोर्चा के पदाधिकारी हड़ताल की सूचना दे चुके है।

शिक्षक एल बी संवर्ग में क्यों है आक्रोश

संविलियन के बाद प्रथम नियुक्ति तिथि से सेवा की गणना नही किया गया।

सहायक शिक्षकों के वेतन विसंगति को दूर नही किया गया।

वेतन निर्धारण की विसंगतियों को दूर नही किया गया।

जनघोषणा पत्र में किए वादा के बाद भी क्रमोन्नत वेतनमान नही दिया गया

पुरानी पेंशन का लाभ प्रथम नियुक्ति तिथि से नही दिया गया,

केंद्र सरकार की तरह 20 वर्ष की सेवा में पूर्ण पेंशन का लाभ नही दिया गया।

राजधानी रायपुर में जंगी प्रदर्शन में शामिल होंगे हजारों शिक्षक –

18 जुलाई को राजधानी रायपुर में जंगी प्रदर्शन की तैयारी के लिए सभी जिला व ब्लाक में मोर्चा के पदाधिकारी बैठक ले रहे है, एल बी संवर्ग के शिक्षक धरना व रैली में शामिल होने एकजुट हो रहे है। सभी शाला के शिक्षक सामूहिक हड़ताल मे रहने आवेदन पत्र दे रहे है।

एल बी संवर्ग के शिक्षकों में भारी आक्रोश 

मांगो को लेकर सरकार की हठधर्मिता के चलते एल बी संवर्ग के शिक्षकों में काफी आक्रोश है, सभी 18 जुलाई को रायपुर जाने का मन बना चुके है। अभी से ही रायपुर जाने की व्यवस्था कर रहे है।

प्रमुख संघ है शामिल

प्रदेश में शिक्षक एलबी संवर्ग जिनकी संख्या लगभग 1 लाख 80 हजार से ज्यादा हैं जिनमे छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन प्रांताध्यक्ष संजय शर्मा, छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन प्रांताध्यक्ष मनीष मिश्रा, शालेय शिक्षक संघ प्रांताध्यक्ष वीरेंद्र दुबे, नवीन शिक्षक संघ प्रांताध्यक्ष विकास राजपूत, छत्तीसगढ़ प्रदेश संयुक्त शिक्षक संघ प्रांताध्यक्ष केदार जैन की 05 जुलाई 2023 को राजधानी रायपुर में एकता बैठक की गयी, जिसमें एलबी संवर्ग के शिक्षकों के भावना और हितो को सर्वोपरि मानते हुए तथा सरकार द्वारा शिक्षको के मांगो पर ध्यान नही देने के कारण शासन के विरोध में एकजुट होकर आंदोलन करने का निर्णय लिया गया, बैठक में सभी संघों द्वारा सर्वसम्मति से “छत्तीसगढ़ शिक्षक संघर्ष मोर्चा” का गठन किया गया है।

आगे है अनिश्चितकालीन हड़ताल

मांगो की पूर्ति न होने की दशा में 31 जुलाई 2023 से सभी विकासखंड और जिला मुख्यालय में अनिश्चितकालीन आंदोलन का आगाज किया गया है।

नाराजगी

मोर्चा के प्रदेश संचालक संजय शर्मा ने बताया कि शिक्षक संवर्ग की मांगों को लगातार शासन प्रशासन को बताया गया, चर्चा किया गया, ज्ञापन दिया गया, धरना, आंदोलन व प्रदर्शन भी किया गया, परन्तु कोई भी निर्णय नही लिया गया, जिससे भारी नाराजगी है।

पदाधिकारियों का है कहना

छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेशाध्यक्ष संजय शर्मा, प्रदेश संयोजक सुधीर प्रधान, वाजिद खान, प्रदेश उपाध्यक्ष हरेंद्र सिंह, देवनाथ साहू, बसंत चतुर्वेदी, प्रवीण श्रीवास्तव, विनोद गुप्ता, डॉ कोमल वैष्णव, प्रांतीय सचिव मनोज सनाढ्य प्रांतीय कोषाध्यक्ष शैलेन्द्र पारीक ने कहा है कि
जनघोषणा पत्र में शिक्षको की क्रमोन्नति, पुरानी पेंशन, वेतन विसगति, पदोन्नति जैसे बड़े विषय को शामिल किया गया है, किन्तु अब तक निर्णय नही लिया गया है। शिक्षक संवर्ग का संविलियन किया गया है परंतु पूर्व सेवा की गणना नही करने से अपेक्षित लाभ नही मिल रहा है, शिक्षको से किये गए वादे पूरे नही किये गए है, जिससे एल बी संवर्ग के शिक्षको में भारी आक्रोश व्याप्त है।प्रदेश संचालक संजय शर्मा, मनीष मिश्रा, विरेंद्र दुबे, विकास राजपूत, केदार जैन ने शिक्षकों से कहा है कि आंदोलन के लिए तैयार रहे, मिलकर संघर्ष करेंगें।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.