सक्ती बीईओ कर रहे उच्च कार्यालय के आदेश की अवहेलना….मामला कार्यालय में संलग्न दो शिक्षकों को मूल शाला के लिए कार्यमुक्त करने का…

0
668

सक्ती/जांजगीर चाम्पा। बीईओ कार्यालय सक्ती इन दिनों हठधर्मिता व लापरवाही का केन्द्र बना हुआ है जहां दो शिक्षक लंबे समय से संलग्न है और बीईओ के सलाहकार हैं। यही वजह है कि डीईओ के लिखित निर्देश के बाद भी इन्हे कार्यमुक्त नहीं किया जा रहा है। यही नहीं सहायक बीईओ के द्वारा इस संबंध में कलेक्टर को भी पत्र लिखा गया जिसके बाद कलेक्टर कार्यालय से डीईओ सक्ती को निर्देश मिला और इस तरह से कलेक्टर व डीईओ दोनों के निर्देश का बीईओ कार्यालय सक्ती अवहेलना कर अपने अड़ियल रवैये पर अड़ा हुआ है।
विदित हो कि कार्यालय जिला शिक्षा अधिकारी सक्ती द्वारा गत 7 फरवरी को सक्ती बीईओ को पत्र जारी कर शिक्षकीय कार्य से बचने हेतु गैर शिक्षकीय कार्य में संलग्न दो शिक्षकों ब्रजेश श्रीवास्तव, उच्च वर्ग शिक्षक, शा. पूर्व मा.शाला चौराबरपाली एवं शांतिलाल यादव, उच्च वर्ग शिक्षक, शा. पूर्व मा.विद्यालय बोकरामुड़ा को तत्काल कार्य मुक्त करने के निर्देश दिए गये हैं। बावजूद इसके आज 14 फरवरी तक उक्त दोनों शिक्षकों को कार्यमुक्त नहीं किया गया है इससे बीईओ सक्ती की हठधर्मिता तथा उच्च कार्यालय के आदेश की अवहेलना हो रही है। जानकारी मुताबिक लंबे समय से बीईओ कार्यालय में संलग्न दोनों शिक्षक मनमाने तरीके से काम करते हुए ब्लाक के शिक्षकों को अनावश्यक रूप से परेशान करते हुए विभिन्न कार्यों के एवज में वसूली भी करते हैं। स्वयं सहायक बीईओ नीलिमा बड़गे के द्वारा 2 फरवरी को इन शिक्षकों को विद्यालय के लिए कार्यमुक्त करने कलेक्टर को पत्र भी लिखा गया था जिसके बाद सक्ती डीईओ को कलेक्टर कार्यालय से पत्र भेजकर कार्यवाही के निर्देश दिए गये थे अब स्थिति यह है कि बीईओ सक्ती उच्च कार्यालय के आदेश की लगातार अवहेलना करते चले आ रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.