बी.एड प्रशिक्षित सहायक शिक्षको के हित में सुप्रीम कोर्ट में पक्ष रखेगा छत्तीसगढ़ शासन…शिक्षा मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने टीचर्स एसोसिएशन व बीएड सहायक शिक्षको को दिया भरोसा…शिक्षा विभाग के सभी रिक्त पदों पर पदोन्नति की प्रक्रिया होगी शीघ्र शुरू

0
1992

बीईओ के पद पूर्ति नियम में संशोधन की गुंजाइश

पदोन्नति संशोधन पीड़ित शिक्षकों के लंबित वेतन का होगा भुगतान

सीधी भर्ती और पदोन्नति के 50 – 50 प्रतिशत के रेशियों का होगा पालन

छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा से चर्चा में शिक्षामंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि बी.एड प्रशिक्षित सहायक शिक्षको के हित में सुप्रीम कोर्ट में छत्तीसगढ़ शासन द्वारा पक्ष रखा जाएगा, शिक्षको की सेवा सुरक्षा करेंगे,,शिक्षा विभाग के सभी रिक्त पदों पर पदोन्नति की प्रक्रिया शीघ्र शुरूकी जाएगी, बीईओ के पद पूर्ति नियम में हो संशोधन की गुंजाइश है, इसे परीक्षण किया जाएगा, पदोन्नति संशोधन पीड़ित शिक्षकों के लंबित वेतन का भुगतान करेंगे,,सीधी भर्ती और पदोन्नति नियम के 50 – 50 प्रतिशत के रेशियों का पालन किया जाएगा।

छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा के नेतृत्व में श्री बृजमोहन अग्रवाल शिक्षामंत्री स्कूल शिक्षा विभाग, छत्तीसगढ़ शासन से 7 अप्रैल को मुलाकत करके बी.एड प्रशिक्षित सहायक शिक्षको को डीएड ब्रिज कोर्स कराकर सेवा सुरक्षा देने हेतु मांग रखा गया।

साथ ही व्याख्याता/ व्याख्याता एल बी से प्राचार्य पदोन्नति, शिक्षक एल बी से व्याख्याता एल बी व प्रधान पाठक पूर्व माध्यमिक शाला पदोन्नति, सहायक शिक्षक एल बी से शिक्षक एल बी व प्रधान पाठक प्राथमिक शाला के समस्त रिक्त पदों पर पदोन्नति की प्रकिया शीघ्र आगे बढ़ाने का मांग रखा गया। बीईओ के पद पर प्रतिनियुक्ति हेतु राजपत्र में संशोधन किया गया।

लगभग 4000 सहायक शिक्षक के पद पर कार्यरत बीएड प्रशिक्षित को अभी हाल मे 02/04/24 को माननीय उच्च न्यायालय बिलासपुर द्वारा पारित आदेश में चयनित सहायक शिक्षकों के नियुक्ति को अवैध करार दिया है, इसके सम्बन्ध तथ्य प्रस्तुत किया गया जिसमें –

(1) NCTE के गाइडलाइन के अनुसार बीएड प्रशिक्षित अभ्यर्थी सहायक शिक्षक के पद हेतु पात्र थे।

(2) शिक्षक भर्ती के नोटिफिकेशन अनुसार डी.एड. एवं बीएड प्रशिक्षार्थी को पात्र माना गया था।

(3) इसके पूर्व शिक्षक पात्रता परीक्षा में भी प्राइमरी स्कूल के लिए बी. एड. प्रशिक्षार्थी पात्र थे।

(4) सभी बीएड प्रशिक्षार्थी सभी नियमों एवं गाइडलाइन का पालन करते हुए व्यापम द्वारा आयोजित परीक्षा परिणाम में मेरिट में स्थान पाकर सहायक शिक्षक के पद पर विगत 6 -7 माह से कार्यरत है।

पूर्व में भी बीएड प्रशिक्षित सेवारत सहायक शिक्षको को ब्रिजकोर्स कराते हुए शिक्षा विभाग द्वारा सेवा सुरक्षा प्रदान किया गया है,, अतः उक्त बिन्दुओं पर विचार करते हुए 4000 बीएड प्रशिक्षित सहायक शिक्षको को विभागीय डीएड ब्रिजकोर्स कराते हुए सेवा सुरक्षा प्रदान कर उनकी सेवा व परिवार को संरक्षण दिया जावे।

पदोन्नति संशोधन पीड़ित शिक्षकों के लंवित चार माह का वेतन भुगतान करने का आग्रह किया गया जिस पर शिक्षा मंत्री जी ने सहमति ब्यक्त की।

स्कूल शिक्षा विभाग में सीधी भर्ती और पदोन्नति के पदों पर नियमानुसार 50 – 50 प्रतिशत के रेशियों का पालन कराने हेतु अधिकारियों को निर्देश जारी करने का मांग रखा गया।

प्रतिनिधि मंडल में छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा, प्रदेश संयोजक सुधीर प्रधान, प्रदेश उपाध्यक्ष बसंत चतुर्वेदी, प्रांतीय महासचिव आयुष पिल्ले, प्रांतीय प्रचार सचिव गंगेस्वर सिंह उइके, सुखनंदन साहू,प्रदेश संयुक्त मंत्री पूरनलाल साहू,प्रदेश मंत्री जितेंद्र मिश्रा, प्रभवित बीएड प्रशिक्षित शिक्षकों के प्रतिनिधि धनेश कुमार राठौर , हरिशंकर देवांगन, मयंक शर्मा , निशांत, यश वर्मा, थानेस्वर्, संकल्प शर्मा, आदित्य शर्मा, सौरभ साहू, टीचर्स एसोसिएशन के रायपुर जिला अध्यक्ष ओम प्रकाश सोनकला, महासमुंद जिलाध्यक्ष नारायण चौधरी, राजनांदगांव जिला अध्यक्ष गोपी राम वर्मा, गरियाबंद जिला अध्यक्ष परमेश्वर निर्मलकर, रायपुर जिला कोषाध्यक्ष अतुल शर्मा,जिला महामंत्री मनोज मुछावड़, ब्लॉक अध्यक्ष(धरसींवा) रविंद्र सॉन्ग सुल्तान,महासमुंद जिला सचिव नंद कुमार साहू, ख़िलावन वर्मा
प्रदीप वर्मा ,सालिक राम साहू, जितेंद्र सोनवानी ब्लॉक अध्यक्ष गरियाबंद, संजय यादव, दिनेश निर्मलकर, कृष्णा यादव शामिल थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.