विभिन्न समस्याओं को लेकर एसोसिएशन ने संयुक्त संचालक दुर्ग को सौंपा ज्ञापन

0
292

दुर्ग। छ ग टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेश उपाध्यक्ष एवम संभाग प्रभारी विनोद गुप्ता के नेतृत्व में प्रतिनिधि मंडल ने विभिन्न समस्याओं को लेकर संयुक्त संचालक श्री पी.के.पांडे के नाम ज्ञापन सौपा।
संभाग प्रभारी विनोद गुप्ता ने बताया कि सह्ययक संचालक श्री ए .एन. व्ही स्वामी से चर्चा कर अवगत कराते हुए कहा कि दिनांक 1.4.22की स्थिति में शिक्षकों की संभाग स्तरीय प्रावधिक वरिष्ठता सूचीजारी कर दावा आपत्ति लिया जाए उसके बाद अंतिम वरिष्ठता सूची प्रकाशित किया जाए,, 2019,2020 में संविलियन हुए शिक्षकों का पद्दोन्नति प्रस्ताव मांगा गया है,जबकि वरिष्ठता सूची प्रकाशित नही किया गया हैअतः सह्ययक शिक्षकों की दिनांक1.4.22की स्थिती में प्रावधिक वरिष्ठता सूची जारी कर दावा आपत्ति का समय दिया जाए,,उच्च शिक्षा में बैठने वाले वाले शिक्षकों को अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी करने जिस पर सहायक संचालक द्वारा बताया गया कि जिला शिक्षा कार्यालय से अभी तक जितने भी आवेदन आये है उनको अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी कर दिया गया ,,इसके लिए संबंधित जिला के जिला शिक्षा अधिकारी के द्वारा प्रस्ताव नही भेजने के कारण विलंब हो रहा है,,उच्च वर्ग से प्रधान पाठक माध्यमिक जिन अपात्र लोगो को पद्दोन्नति हुई थी उसके उनकी पद्दोन्नति निरस्त कर दिया,अतः उन पदों पर योग्यता धारी लोगो को पद्दोन्नति दी जाए,जिस उन्हीने सहमति दी,,राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा के अंतर्गत कार्यरत व्यख्याता को समयमान वेतन का एरियर्स राशि के शासन स्तर पत्र लिखने ,तथा नगरीय निकाय में कार्यरत शिक्षक पंचायत के रूप दुर्ग, भिलाई के शिक्षकों को एरियर्स की राशि भुगतान नही किया गया ,,इसकी जानकारी दी जिस पर नगर निगम को पत्र लिखने कहा गया है।इसके साथ ही सह्ययक शिक्षक से उच्च वर्ग के पद पर पद्दोन्नति होनी है विषय वार रिक्त पदों की जानकारी जानकारी के संबंध में बताया कि सभी जिला को पद्दोन्नति हेतुविषय वार रिक्त पद की जानकारी मांगी गई है।
मुलाकात के दौरान एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष शत्रुहन साहू, श्री हरि,प्रांतीय महिला प्रतिनिधि ललिता कन्नौजे,जिला सचिव जीवन वर्मा,जिला उपाध्यक्ष कमल वैष्णव,जिला माह मंत्री संजय चंद्राकर,किशन देशमुख,रामबिलास गजराज,दानेश्वर तिवारी उपस्थित रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.