बिग ब्रेकिंग….25 जुलाई से जारी अनिश्चित कालीन हड़ताल स्थगित – फेडरेशन के शामिल नही होने के कारण लिया निर्णय…..शिक्षक एल बी संवर्ग के मांग व DA, HRA के लिए बनाएंगे रणनीति….अनिश्चित कालीन आंदोलन में शामिल किसी भी शिक्षकों का अहित नही होने दिया जाएगा

0
7900

रायपुर 31 जुलाई 2022। देय तिथि से लंबित मंहगाई भत्ता देने व HRA को सातवें वेतनमान के अनुसार पुनरीक्षित करने की मांग को लेकर छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन, शालेय शिक्षक संघ, नवीन शिक्षक संघ के निष्पक्ष बेनर व समान भूमिका में अनिश्चितकालीन हड़ताल कर रहे संजय शर्मा, वीरेंद्र दुबे, विकास राजपूत ने कहा कि 5 दिन के आंदोलन पर जब सरकार ने चर्चा तक के लिए अधिकारी कर्मचारी फेडरेशन को आमंत्रित नही किया, संसाधन के आधार पर यथासमय निर्णय लेने का बयान विधानसभा में दिया गया, तब तो हड़ताल को अनिश्चितकालीन किया जाना था, फेडरेशन ने अंत मे उक्त 2 मांग को अनिर्णय की स्थिति में छोड़ दिया, कर्मचारी – अधिकारी फेडरेशन ने 1 अगस्त के बजाय 22 अगस्त से अनिश्चितकालीन आंदोलन की घोषणा की है जिसके कारण संजय शर्मा, वीरेंद्र दुबे, विकास राजपूत ने 25 जुलाई से जारी अनिश्चितकालीन आंदोलन को स्थगित करने का निर्णय कोर कमेटी की बैठक कर लिया है।

शासन के वेतन कटौती के आदेश के बाद भी 30 जुलाई को हजारों शिक्षकों ने राजधानी रायपुर में जंगी प्रदर्शन कर व आक्रोश रैली निकालकर केवल 2 सूत्रीय मांगो का ज्ञापन सौंपा।

अनिश्चित कालीन आंदोलन में शामिल किसी भी शिक्षकों का अहित नही होने दिया जाएगा

अधिकारी – कर्मचारी फेडरेशन से 1 अगस्त से ही अनिश्चितकालीन आंदोलन की घोषणा करने का आग्रह किए, पर उनके द्वारा निर्णय नही लिए जाने से सरकार के पास मांग कमजोर हो जाएगा।

अनिश्चितकालीन हड़ताल कर रहे संजय शर्मा, वीरेंद्र दुबे, विकास राजपूत ने कहा कि फेडरेशन ने अंत मे उक्त 2 मांग को अनिर्णय की स्थिति में छोड़ दिया और हड़ताल का मैदान भी छोड़ दिया, जिससे शासन के पास मांग भी कमजोर हुआ है, दरअसल 2 मांग पर अनिश्चितकालीन हड़ताल उनके प्रतिस्पर्धा में नही बल्कि पूरक ही था, हम तो हड़ताल में ही थे परंतु फेडरेशन के हड़ताल छोड़ने से कर्मचारियो के मांग को धक्का लगा है।

फेडरेशन ने कर्मचारियो के इस बड़े संघर्ष को छोड़कर बीच में सरकार को समय दिया है, इससे कर्मचारियो का नुकसान होगा।

DA व HRA की मांग केवल शिक्षक संवर्ग की नही है बल्कि समस्त विभाग के कर्मचारियो की है, शिक्षक संवर्ग हड़ताल में है किंतु कार्यालयीन कर्मचारी फेडरेशन में रहकर हड़ताल समाप्त कर चुके है, अतः अनिश्चितकालीन हड़ताल पूर्णतः सफल नही होने की स्थिति में हड़ताल स्थगित किया जा रहा है।

30 जुलाई को बूढ़ा तालाब में उपस्थित हजारों शिक्षकों ने आगामी समय में शिक्षक एल बी संवर्ग के मांगो को प्रमुखता से रखते हुए सरकार से पहले चर्चा करने व निर्णय नही होने पर आंदोलन की रणनीति बनाने पर सहमति प्रदान की।

संजय शर्मा, वीरेंद्र दुबे, विकास राजपूत द्वारा बाकि अन्य एल बी संवर्ग के प्रमुख शिक्षक संगठनों से चर्चा करके शिक्षक संवर्ग के विभिन्न मुद्दे प्रथम नियुक्ति तिथि से 20 वर्ष की सेवा को पूर्ण मानते हुए सम्पूर्ण पेंशन देने, सहायक शिक्षको को व्याख्याता, शिक्षक के समानुपातिक वेतन देकर वेतन विसंगति दूर करने, प्रथम नियुक्ति के आधार पर क्रमोन्नति देने, पदोन्नति प्रक्रिया शीघ्र पूर्ण करने के विषय पर चर्चा कर शिक्षक संवर्ग के हित मे सरकार के समक्ष पक्ष रखने की तैयारी की जा रही है, शिक्षको के संघर्ष में निष्पक्ष बैनर – समान भूमिका व सामूहिक नेतृत्व में साथ आने अपील किया गया है, शीघ्र ही रणनीति बनाकर कार्ययोजना तैयार किया जाएगा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.