सम्पूर्ण संविलियन आदेश के लिए एसोसिएशन ने जलाया दीप

0
150

महासमुंद। छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रांतीय निर्देश पर जिला इकाई महासमुंद के सदस्यों ने अपने अपने घरों में संविलियन क्रियान्वयन दीप जलाकर राज्य शासन से 01 जुलाई 2020 से सम्पूर्ण संविलियन की आदेश की मांग किया । जिलाध्यक्ष नारायण चौधरी, प्रदेश संयोजक सुधीर प्रधान, महासचिव शोभासिंह देव,संगठन मंत्री पूर्णानंद मिश्रा,प्रचार मंत्री केशव राम साहू,प्रदेश महिला प्रकोष्ठ अर्चना तिवारी,ब्लॉक अध्यक्ष राजेश साहू,विनोद यादव,महेंद्र चौधरी,अरुण प्रधान,ललित साहू,जिला पदाधिकारी सादराम अजय,नंद कुमार साहू,विजय प्रधान,लालजी साहू,पुष्पलता भार्गव,लोरिश कुमार,प्रदीप वर्मा ने कहा है कि हमें पूरी उम्मीद है कि मुख्यमंत्री जी ने जो 3 मार्च को बजट भाषण में 2 वर्ष पूर्ण करने वाले समस्त शिक्षा कर्मियों को संविलियन करने का ऐलान किया था, उस पर शीघ्र अमल होगा,,इसी सकारात्मक भरोसे को ध्यान में रखकर आज संविलियन से वंचित शिक्षकों के किये संविलियन आदेश जारी करने सकारात्मक तरीके से प्रदेश के मुखिया को दीप प्रज्वलित कर आदेश जारी करने का आग्रह किया गया।
शिक्षाकर्मियों द्वारा पूर्ववर्ती राज्य मध्यप्रदेश से लेकर अलग बने राज्य छत्तीसगढ़ में 22 वर्षों तक किए गए दीर्घकालिक संघर्ष के परिणामस्वरूप एक जुलाई 2018 से आठ वर्ष की सेवा पूर्ण करने वाले शिक्षाकर्मियों का स्थानीय निकाय से स्कूल शिक्षा विभाग में संविलियन प्रारम्भ हुआ. इसके बाद एक जुलाई 2019 एवं एक जनवरी 2020 की स्थिति में आठ वर्ष की सेवा पूर्ण करने वाले शिक्षाकर्मियों का संविलियन किया गया।
वर्तमान प्रदेश सरकार ने अपने जन घोषणा पत्र के वादा अनुसार संविलियन किए जाने के लिए सेवा अवधि को घटाकर 8 वर्ष से 2 वर्ष करने का निर्णय लिया है, लेकिन इस पर क्रियान्वयन करने का आदेश आज पर्यन्त तक जारी नहीं किया गया है।
वर्तमान मुख्यमंत्री ने कहा था, कि हमारी सरकार बनेगी तो हम सभी का संविलियन करेंगे, हड़ताल के बाद पूर्व सरकार ने 8 वर्ष में संविलियन का निर्णय लिया था, और आदेश जारी किया। सम्पूर्ण संविलियन के लिए लगातार बात होती रही, चुनाव पूर्व घोषणा पत्र कमेटी को भेंटकर अवगत कराया जाता रहा, अंततः वर्तमान सरकार के घोषणा पत्र में 2 वर्ष पूर्ण करने वाले शिक्षक संवर्ग के संविलियन करने का विषय प्रमुखता से शामिल किया गया।
चूंकि सभी शिक्षक संघ की मांग में सम्पूर्ण संविलियन की मांग ही प्रथमतया है, जनघोषणा पत्र में शिक्षक मांग में यह प्रथमतः है, मुख्यमंत्री ने विपक्ष में रहते सभी शिक्षक के संविलियन की बातें हड़ताल में की थी, तो स्वाभाविक तौर पर शिक्षक व कर्मचारी के समस्या निवारण में यह सर्वोपरि मानकर चिन्हित किया गया,
वह सुखद अवसर 3 मार्च को आया, जब विधानसभा के बजट में 2 वर्ष पूर्ण करने वाले शिक्षक संवर्ग का संविलियन 1 जुलाई 2020 को संविलियन करने का विषय शामिल कर घोषणा की गई, पर आज यक्ष प्रश्न है कि अब तक संविलियन आदेश जारी हो जाना था किंतु हम सभी आज भी आदेश की प्रतीक्षा ही कर रहे है।
शिक्षक संवर्ग के 2 वर्ष में संविलियन के निर्णय के क्रियान्वयन हेतु आदेश जारी करने के लिए आज जिला के ब्लॉक महासमुंद, बागबाहरा, पिथौरा, बसना,सरायपाली ब्लॉक से खिलावन वर्मा,सालिक राम साहू,कौशल साहू,खोशील गैन्द्रे, चंद्रशेखर चन्द्राकर,नरेश पटेल,वीरेंद्र नर्मदा, दिलीप नायक,माहेश्वरी साहू,सम्पा बोस,हेमलता सावड़े,रामकान्ति दास, अनिता शुक्ला,विकास साहू,जगदीश सिन्हा, कौशल चन्द्राकर,अनिल सिंह साव,विजय शंकर विशाल,सुबोध तिवारी,गजानंद भोई,अभिमन्यु सड़गी, लक्ष्मीधर चन्द्राकर,दमयंती कौशिक, हिराधर साव,मनीषा सोनी, धर्मेंद्र राणा,भूपेश भोई,आशीष साहू,जीवन लाल सिन्हा, गजानंद नायक,देवेंद्र चन्द्राकर,शशांक प्रधान,लक्ष्मण दास मानिक पूरी,घनश्याम चक्रधारी,राजेन्द्र पांडे,अजय कुमार जायसवाल,वीरेंद्र साहू,दामिनी देवांगन,उर्मिला मिश्रा, संतोष कुमार दुबे,कैलाश पटेल,देवेंद्र भोई,हेमंत दास,मनीष अवसरिया, गजेंद्र पटेल,रामचरण अग्रवाल,सुधा गोस्वामी,गौरी शंकर पटेल,राधेश्याम पटेल,सोमनाथ चौहान सहित बड़ी संख्या में शिक्षक संवर्ग जिला महासमुंद ने दीप जलाकर आदेश जारी करने का आग्रह किया है।
उक्ताशय की जानकारी जिला सचिव नंदकुमार साहू एवम जिला मीडिया प्रभारी प्रदीप वर्मा ने दी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.