सरकारी कर्मचारियों को बड़ी राहत…पेंशन योजना को लेकर केंद्र ने लिया अहम फैसला

0
10044

नई दिल्ली 18 फ़रवरी 2020।कर्मचारियों के लिए राहत भरी खबर है अब उन्हें पेंशन योजना में अब लाभ मिल सकेगा।केंद्र सरकार ने सरकारी कर्मचारियों की पेंशन योजना को लेकर आज एक बड़ा फैसला लिया है। इसके तहत अब NPS (National Pension Scheme) नेशनल पेंशन स्‍कीम से जुड़े शासकीय कर्मचारियों को अब पुरानी पेंशन योजना OPS (Old Pension Scheme) में शामिल होने की छूट मिल गई है। इसका सीधा सा मतलब यह हुआ कि वे तमाम केंद्रीय कर्मचारी जो 1 जनवरी 2004 या इससे पहले की अवधि में सरकारी सेवा में आए, वे भी इस पुरानी पेंशन योजना का लाभ पाने के पात्र होंगे। इस बात से फर्क नहीं पड़ेगा कि उनकी नियुक्ति उक्‍त तारीख के बाद हुई हो। इन सभी कर्मचारियों को पुरानी पेंशन योजना का फायदा मिलेगा। असल में, पुरानी पेंशन योजना में पेंशन की राशि पिछले जारी हुए वेतन के आधार पर बनती थी। पुरानी पेंशन योजना में DA महंगाई भत्‍ता भी बढ़ जाया करता था।

जब भी केंद्र सरकार कोई नया वेतन आयोग अमल में आती है तो इसका असर पेंशन पर भी होता है एवं पेंशन भी बढ़ती है। मालूम हो कि केंद्र में OPS पुरानी पेंशन योजना को 1 जनवरी 2004 से लागू किया गया था और इसके बाद ही NPS नई पेंशन योजना सामने आई। यह बात अलग है कि शासकीय कर्मचारी अभी भी पुरानी पेंशन योजना को भी श्रेष्‍ठ मानते हैं। सरकार ने अपने सारे विभागों को इस आदेश को लागू करने को कहा है।

शासकीय सेवा में नियुक्ति का परिणाम यदि 1 जनवरी 2004 से पहले घोषित हो चुका है एवं पुलिस वेरिफिकेशन, मेडिकल परीक्षण या किसी अन्‍य कारण से नियुक्ति में देरी हुई है तो इसके लिए कर्मचारी जिम्‍मेदार नहीं है। चूंकि यह शासन स्‍तर पर मामला है, लिहाजा ऐसे कर्मचारियों को वन टाइम ऑप्‍शन दिया जा रहा है कि वे इस संबंध में पेंशन विभाग से संपर्क करें और पुरानी पेंशन योजना का लाभ लें। इसके लिए केंद्र सरकार ने आगामी 31 मई 2020 तक का समय तय किया है।

NPS नई पेंशन योजना यानी एनपीएस गत 1 जनवरी 2004 से लागू की गई थी। कई राज्‍यों में 1 अप्रैल 2004 से एनपीएस लागू हुई थी। इसमें खास यह है कि एनपीएस में नई नियुक्ति वाले कर्मचारियों को रिटायरमेंट के वक्‍त पुराने कर्मचारियों के समान ही पेंशन एवं फैमिली पेंशन के लाभ नहीं मिलेंगे। इस पेंशन योजना में नए कर्मचारिेयों से सैलरी एवं महंगाई भत्‍ते DA का 10 प्रतिशत अंशदान लिया जाता है, जबकि सरकार 14 प्रतिशत अंशदान मिलाती है।

नई पेंशन और पुरानी पेंशन की तुलना

NPS और OPS यानी नई पेंशन और पुरानी पेंशन योजना की तुलना की जाए तो पुरानी पेंशन के अधिक फायदे हैं। सबसे पहली बात तो यह है कि पेंशनर के साथ उसके पूरे परिवार की सुरक्षा इसमें शामिल रहती है। सेवा निवृत्‍त हुए कर्मचारी को अगर इसका लाभ मिलता है तो इससे उसका रिटायरमेंट सुरक्षित हो जाता है। सरकार के आदेश में यह कहा गया है कि ओपीएस के लिए पात्र होने के बाद इन कर्मचारियों का एनपीएस खाता बंद कर दिया जाएगा।

OPS पुरानी पेंशन मिलने से होंगे ये लाभ

1- OPS में पेंशन अंतिम ड्रॉन सैलरी के आधार पर तैयार की जाती थी।

2- OPS में DA भी बढ़ जाता था, जब भी महंगाई दर बढ़ती थी।

3- सरकार जब भी कोई नया वेतनमान लागू करती है तो इससे पेंशन में भी वृद्धि दर्ज की जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.