क्रमोन्नति की मांग के साथ अगस्त क्रांति की शुरुवात,मुख्यमंत्री सहित मंत्रियों व अधिकारियों को दिया ज्ञापन… ज्ञापन में क्या है खास? पूरी खबर पढ़ें…एसोसिएशन ने शिक्षक हित मे निर्णय लेने मुख्यमंत्री से की मांग

0
504

 रायपुर/कोरबा। छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा, प्रदेश उपाध्यक्ष बसंत चतुर्वेदी,जिलाध्यक्ष मनोज चौबे ने कहा है कि दो पृथक मांग पत्र सौंपा गया, जिसमे क्रमोन्नति को पहले बिंदु पर रखा गया है।

मुख्यमंत्री जी के कार्यालय में 5 अगस्त को ज्ञापन देकर मांग किया गया।

प्रमुख मांग पत्र जिसमें इन मांगों को रखा गया है

जनघोषणा पत्र में उल्लेखित क्रमोन्नति सहित एल बी शिक्षक संवर्ग के मांगो का निराकरण करने ज्ञापन सौंपा गया –

1- क्रमोन्नति – प्रथम नियुक्ति तिथि से सेवा अवधि मानकर क्रमोन्नति का आदेश किया जावे,
शिक्षा कर्मियों के निम्न वर्ग की सेवा को जोड़कर उच्च वर्ग में लाभ दिया गया है, अतः पूर्व सेवा अवधि को जोड़कर क्रमोन्नति हेतु लाभ प्रदान कर क्रमोन्नति आदेश जारी किया जावे।

2 – पदोन्नत्ति – सभी विभाग में पदोन्नति जारी है, ज्ञातव्य है, प्राथमिक शाला, पूर्व माध्यमिक शाला में प्रधान पाठक के हजारों पद रिक्त है, शिक्षक, व्याख्याता व प्राचार्य के पद पर भी पदोन्नति का प्रावधान है, अतः एल बी संवर्ग को कुल शिक्षकीय सेवा अनुभव (पूर्व सेवा) के आधार पर पदोन्नति किया जावे, इससे शिक्षण व्यवस्था में गुणात्मक सुधार होगा।

3 – वेतन विसंगति – व्याख्याता व शिक्षक की तुलना में सहायक शिक्षक का वेतन कम है, प्राथमिक शिक्षा को विशेष शिक्षकीय सेवा मानकर व्याख्याता व शिक्षक के वेतनमान के अंतर के अनुपात में शिक्षक व सहायक शिक्षक के वेतनमान में सुधार किया जावे।

4 – पुरानी पेंशन बहाली – जनघोषणा पत्र में पुरानी पेंशन बहाली हेतु कार्यवाही उल्लेखित है, अतः NPS के स्थान पर OPS (पुरानी पेंशन योजना) लागू करने की कार्यवाही किया जावे।

5 – अनुकम्पा नियुक्ति – पं/ननि संवर्ग के लंबित प्रकरण पर नियम शिथिल कर नियुक्ति देने व चतुर्थ श्रेणी में भी अनुकम्पा नियुक्ति देने तथा एल बी संवर्ग के 10% कोटा को शिथिल कर सहायक शिक्षक, विज्ञान सहायक शिक्षक व लिपिक के पद पर 90 दिन के भीतर अनुकम्पा नियुक्ति प्रदान किया जावे।

6 – जनवरी 2019 से लंबित महंगाई भत्ता का आदेश शीघ्र जारी किया जावे।

*दूसरे मांग पत्र में*

1– 01 जुलाई 2020 को 8 वर्ष पूर्ण करने वाले शिक्षक संवर्ग को पूर्व नियम व आदेश के अनुसार ही संविलियन किया जावे।

2– 01 जुलाई 2020 को 2 वर्ष पूर्ण कर चुके शिक्षक संवर्ग को 1 जुलाई 2020 से ही बजट घोषणानुसार संविलियन करते हुए एरियर्स वेतन का भुगतान नवम्बर 2020 में किया जावे।

3 – वर्तमान में शिक्षक पं/ननि संवर्ग के वेतन में अंतर है, अतः 2 वर्ष से अतिरिक्त सेवा अवधि के लिए वेटेज देते हुए वेतनमान निर्धारण का आदेश जारी किया जावे।

मांग पत्र में मुख्यमंत्री व मुख्यसचिव के अलावा पंचायत मंत्री जी, शिक्षा मंत्री वित्त मंत्री जी, सामान्य प्रशासन मंत्री, नगरीय प्रशासन मंत्री जी, प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा विभाग, प्रमुख सचिव, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, अपर मुख्य सचिव, वित्त विभाग, सचिव सामान्य प्रशासन विभाग, संचालक, लोकशिक्षण संचालनालय, संचालक पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग संचालनालय छत्तीसगढ़, रायपुर को मेल के द्वारा ज्ञापन प्रेषित किया गया।

ज्ञापन सौंपने वाले प्रतिनिधि मंडल में छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा, प्रदेश उपाध्यक्ष देवनाथ साहू, प्रदेश सचिव मनोज सनाढय, प्रदेश महामंत्री अंजुम शेख, प्रदेश संगठन सचिव योगेश सिंह, प्रदेश प्रचार सचिव गंगेश्वर सिंह उइके, धमतरी जिला उपाध्यक्ष नंदकुमार साहू, सहित पदाधिकारी शामिल थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.