वेतन वृद्धि नही रोकने सहित विभिन्न मांगों के लिए मुख्यमंत्री के नाम से संयुक्त शिक्षा कर्मी संघ ने सौंपा ज्ञापन

0
233

कोरबा । सँयुक्त शिक्षक संघ छत्तीसगढ़ के प्रदेशाध्यक्ष केदार जैन एवम प्रांतीय निर्देशानुसार जिला शाखा- कोरबा द्वारा बिलासपुर संभाग अध्यक्ष मुकुन्द उपाध्याय जिलाध्यक्ष नित्यानन्द यादव के नेतृत्व में जिला डिप्टी कलेक्टर श्री संजय अग्रवाल जी को मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ शासन, मुख्य सचिव छत्तीसगढ़ शासन के नाम 3 सूत्रीय माँग का ज्ञापन सौंपा गया 👉🏻(1.एक वेतन वृद्धि रोके जाने का आदेश वापस लेने 2.कोरोना कार्य मे ड्यूटी कर रहे शिक्षकों को 50लाख का बीमा 3. लंबित महँगाई भत्ते 9% का आदेश जारी किया जाये इस अवसर पर संघ के संभाग अध्यक्ष मुकुन्द उपाध्याय, जिलाध्यक्ष नित्यानन्द यादव कार्यकारी जिलाध्यक्ष रामनाथ बघेल,विनय शुक्ला जिला सचिव एवम श्री टी डी टोन्डे जी जिला उपाध्यक्ष शामिल थे।

*प्रति,*
*1. माननीय श्री भूपेश बघेल जी*
*मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ शासन*
*मंत्रालय महानदी भवन नया रायपुर छ.ग.*
*2. श्रीमान मुख्य सचिव महोदय*
*छत्तीसगढ़ शासन*
*मंत्रालय महानदी भवन नया रायपुर छ ग*
*द्वारा :- श्रीमान कलेक्टर महोदय जिला- कोरबा (छ.ग.)*
*विषय :- राज्य शासन के कर्मचारियों का वार्षिक वेतन वृद्धि में लगाए गए रोक को हटाने, कोरोना कार्य करने वाले शिक्षकों का 50 लाख का बीमा एवं लंबित 9% महंगाई भत्ता प्रदान करने बाबत।*
*संदर्भ :- छत्तीसगढ़ शासन वित्त विभाग का वित्त निर्देश 12/2020 दिनाँक 27.05.2020 बिंदु क्रमांक 2.9।*
*महोदय*
*उपरोक्त विषयातर्गत संयुक्त शिक्षाकर्मी/ शिक्षक संघ जिला-कोरबा निम्नलिखित बिंदुओं के निराकरण हेतु ज्ञापन सादर प्रेषित करता है :-*
*1. छत्तीसगढ़ शासन वित्त विभाग द्वारा जारी संदर्भित निर्देशानुसार राज्य के कर्मचारियों का वार्षिक वेतन वृद्धि पर रोक लगाया गया है। वार्षिक वेतन वृद्धि श्रम अधिनियम एवं कर्मचारी संहिता अनुसार प्रत्येक कर्मचारी का मौलिक अधिकार होता है। वार्षिक वेतन वृद्धि तभी रोका जाता है जब किसी कर्मचारी को कोई सजा दी जा रही हो। आज कोरोना के इस दौर में छत्तीसगढ़ राज्य के शिक्षक/ कर्मचारी राज्य शासन के प्रत्येक निर्देशों का पालन, अपनी परवाह किए बिना निष्ठापूर्वक कर रहे हैं। राज्य सरकार वर्तमान में सभी वर्ग के लिए योजना एवं पैकेज जारी कर सभी वर्ग को मजबूत करने का बेहतर कार्य कर रहा है,लेकिन कर्मचारी वर्ग का वार्षिक वेतन वृद्धि रोका जाना बहुत ही पीड़ादायक है जिससे राज्य के शिक्षक/कर्मचारी बहुत ही दुखी एवं हतोत्साहित है। अतः आपसे निवेदन है कि वार्षिक वेतन वृद्धि में लगाए गए रोक पर पुनर्विचार करते हुए, हटाने की कृपा करें।*
*2. कोरोना वायरस संक्रमण काल में शिक्षकों का विभिन्न कोरोना कार्य (चेक पोस्ट,सर्वे, क्वॉरेंटाइन सेंटर ,रेलवे स्टेशन, मध्यान्ह भोजन वितरण) आदि में ड्यूटी लगाया जा रहा है। जिसमें शिक्षकों को कोरोना वायरस खतरा भी है जानकारी के अनुसार बिलासपुर रेलवे स्टेशन में ड्यूटी करने वाले शिक्षक कोरोना पॉजिटिव पाए गए है। अतः कोरोना वारियर्स की तरह ही शिक्षकों का भी 50 लाख का बीमा अनिवार्यतः किया जाए।*
*3. छत्तीसगढ़ के कर्मचारियों का जुलाई 2019 से 4% एवं जनवरी 2020 से 5% कुल 9% महंगाई भत्ता अघोषित रूप से रोका गया है। कर्मचारियों को महंगाई भत्ता ,बाजार के महंगाई के अनुसार जीवन यापन करने के लिए प्रदान किया जाता है। वर्तमान में बाजार में महंगाई बड़ा हुआ है। अतः निवेदन हैं कि लंबित 9% महंगाई भत्ता को प्रदान करने की कृपा करें ।*
*अतः महोदय से निवेदन है कि उपरोक्त बिंदुओं पर आवश्यक कार्यवाही करते हुए आदेश प्रसारित करने की कृपा करें। शिक्षक परिवार आपका आभारी रहेगा।*
*धन्यवाद !*
🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻
*मुकुन्द उपाध्याय*
*बिलासपुर संभाग अध्यक्ष*
*नित्यानंद यादव*
*जिलाध्यक्ष- सँयुक्त शिक्षक संघ जिला कोरबा*

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.